Fundamental Duties in Hindi - मौलिक कर्तव्य हिंदी में।

 दोस्तों जैसा कि हम जानते हैं कि भारत एक अखंडता संप्रभुता और एकता वाला देश है। हमारा भारत को आजादी तो 1947 में ही मिल गई थी और भारत 1950 में गणतंत्र बन चुका था। हमारे संविधान में 1976 में 10 Fundamental Duties (मौलिक कर्तव्य) को जोड़ा गया, बाद में 2002 में 1 और मौलिक कर्तव्य को संविधान में जोड़ा गया, अभी के समय में भारत के नागरिकों के कुल 11 मौलिक कर्तव्य हैं, जो भारत के हर व्यक्ति पे लागू होता है, मौलिक कर्तव्य (Fundamental Duties in Hindi) संविधान के Article 51A में लिखा है।

Fundamental Duties

Fundamental Duties in Hindi

1. संविधान का पालन करना, और उसके आदेशों, संस्थाओं, राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान का सम्मान करना।

2. स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले महान हस्तियों को दिल में संयोज करके रखना और उनके आदेशों का पालन करना।

3. भारत की संप्रभुता, एकता और अखंडता को बनाए रखना और उसकी रक्षा करना।

4. देश की रक्षा करना और राष्ट्रीय सेवा प्रदान करना जब ऐसा करने का आह्वान किया जाए।

5. भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करना जो धर्म, भाषा, प्रदेश वर्ग पर आधारित सभी भेद भाव से परे हो और ऐसे शब्द और कथन से त्याग करना जो स्त्रियों के विरुद्ध हो।

6. हमारी समग्र संस्कृति की समृद्ध विरासत को संरक्षित रखना और इसके महत्व को समझना।

7. प्राकृतिक पर्यावरण अंतर्गत वन,‌ झील, नदी और वन्य जीव आते हैं; उसकी रक्षा करना और प्राणियों के प्रति दया भाव रखना।

8. वैज्ञानिक स्वभाव, मानवतावाद और जांच और सुधार की भावना को विकसित करना।

9. सार्वजनिक संपत्ति की सुरक्षा करना और हिंसा से दूर रहना और इस को रोकना।

10. व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों को सभी क्षेत्र में उत्कर्ष की ओर बढ़ाने का सतत प्रयास करना, जिससे राष्ट्रीय निरंतर बढ़ते हुए प्रयत्न और उपलब्धि की ऊंचाइयों को छू लेना।

11. यदि माता-पिता या उसके देखभाल करने वाले हैं तो, 6 वर्ष से लेकर 14 वर्ष तक बालक या बालिका कोशिका का अवसर प्रदान करना।

मौलिक कर्तव्य हिंदी में

Fundamental Duties in Hindi - मौलिक कर्तव्य हिंदी में।

दोस्तों अब आप भारत के 11 मौलिक कर्तव्यों (Fundamental Duties in Hindi) से परिचित हैं, आशा करता हूं कि आप भी इन मौलिक कर्तव्यों को निभाएंगे और भारत की सफलता में अपना योगदान देंगे। यदि आपको हमारी लेख पसंद आई, तो अपने मित्रों के साथ अवश्य साझा करें और हमारे इस वेबसाइट को बुकमार्क जरूर करें और भी ऐसे ज्ञानवर्धक लेख पढ़ने को।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां