NCC Full Form In Hindi - NCC क्या है?

NCC भारतीय सशस्त्र बल की एक युवा वर्ग है, क्या भारत के स्कूल कॉलेज के छात्रों को थल सेना, जल सेना, और वायु सेना की बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण देकर देश के युवाओं एवं युवतियों को अपने देश के प्रति अनुशासित, और एक सच्चा देशभक्त नागरिक बनने का उपचार देता है। यदि आप छात्र हैं, और NCC से जुड़ना चाहते हैं। तो हमने उससे लेख‌ में NCC Full Form In Hindi एवं NCC से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां आपके लिए लिखी हैं, अभी आप NCC के बारे में थोड़ी भी रुचि रखते होंगे तो आपको यह लेख बहुत ही ज्ञानवर्धक प्रतीत होगी। आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

NCC Ka Full Form

NCC Full Form In Hindi

NCC का Full Form होता है “National Cadet Corps”, और इसका हिंदी अर्थ या हिंदी Full Form “राष्ट्रीय छात्र-सेना” है।

NCC के अन्य ‌Full Form

NCC के कुछ अन्य Full Form निम्नलिखित हैं, आप इन्हें भी जरूर पढ़ें।

National Capital Commission

National Community Church

NewCastle City Council

Nikko Cordial Corporation

Nondescripts Cricket Club

Norwalk Community College

Nunawading Christian College

NCC क्या है?

NCC यानी ‌National Cadet Corps भारत की ‌एक छात्र-सेना है, जो त्रि-सेवा (जल सेना, थल सेना, एवं वायु सेना) संगठन‌ है। NCC भारत की एक स्वैच्छिक संगठन हैं, जो पूरे भारत के उच्च विद्यालय, उच्च माध्यमिक विद्यालय, कॉलेज, और विश्वविद्यालय से नए छात्र सैनिकों की भर्ती करती है।

NCC छात्रों को बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण देती है, और उन्हें अपने देश के प्रति अनुशासित एवं देशभक्त नागरिक होने का कर्तव्य सिखाती है। NCC कि स्थापना आज से करीब 74 वर्ष पूर्व 16 अप्रैल 1948 में पंडित हरादया नाथ कुंजरु के Leadership में कि गई थी, लेकिन इस संगठन को लोगों के सामने उजागर 16 जुलाई 1948 को की गई थी। तब से लेकर अब तक यह संगठन सक्रिय है, और अपने कार्य एवं कर्तव्यों को पूरा कर रही है।

NCC के बारे में जानकारी।

आप NCC के बारे में एक तथ्य यह भी जानने लीजिए कि, NCC कि स्थापना सबसे पहले भारत में नहीं बल्कि जर्मनी में 1666 ईस्वी में की गई थी,‌ इसका अर्थ यह हुआ कि जर्मनी ने सबसे पहले अपने छात्रों को बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण देने का कार्य किया था।

NCC का मुख्यालय भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है, और NCC के पास वर्तमान में 13 लाख से 15 लाख छात्र मौजूद हैं, जिन्हें यह संगठन जल, सेना थल, सेना और वायु सेना की बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण देती है। NCC के वर्तमान डायरेक्टर जनरल का नाम Lt Gen. Tarun Kumar Aich है।

NCC का गठन क्यों हुआ?

NCC का गठन भारत के सैन्य शक्ति को बढ़ाने के लिए, और भारत के तीनों सैन्य‌ सेवाओं (जल सेना, थल सेना, एवं वायु सेना) की पूर्ति करने के लिए Indian Defence Act 1917 के तहत गठन किया गया‌ था।

NCC का Motto(s) क्या है?

NCC यानी ‌National Cadet Corps का Motto(s) एकता और अनुशासन है,‌ जिसे हम अंग्रेजी में Unity and Discipline कहते ‌है।

NCC के Motto(s) रखने की की चर्चा 11वे केंद्रीय सलाहकार बैठक (11 August 1978) में हूआ था, इस बैठक‌ में ‌NCC के चार Motto(s) के बारे में विचार किया गया था, जो निम्नलिखित हैं।

1. Duty and Discipline (कर्तव्य और अनुशासन)

2. Duty, Unity and Discipline (कर्तव्य, एकता और अनुशासन)

3. Duty and Unity (कर्तव्य और एकता)

4. Unity and Discipline (एकता और अनुशासन)

जब 12 October 1980 को‌ 12वी केंद्रीय सलाहकार बैठक, तब NCC के Motto(s) को घोषित किया गया, जो “‌Unity and Discipline” यानी “एकता और अनुशासन” था; और फिर उसके बाद से लेकर अब तक NCC का Motto(s) “Unity and Discipline” यानी “एकता और अनुशासन” हैं।

NCC दिवस कब मनाया जाता है?

NCC दिवस यानी ‌National Cadet Corps Day हर वर्ष के नवंबर माह के चौथे रविवार को मनाया जाता है।

NCC का Official वेबसाइट क्या है?

NCC का Official वेबसाइट (https://indiancc.nic.in) है, आप यहां से एनसीसी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप एनसीसी में थोड़ी भी रुचि रखते होंगे, तो आप इस वेबसाइट को बुकमार्क जरूर करेंगे ताकि आपको एनसीसी से जुड़ी तमाम Update मिल सके।

इन्हें भी पढ़ें:

आशा है! आपको उपर दी हुई जानकारियां ज्ञानवर्धक लगी होंगी, आपको इस लेख (NCC Full Form In Hindi) से यह भी जानने को मिला होगा कि NCC क्या है? यदि आपको हमारी यह लेख पसंद आई तो इसे आप अपने मित्रों के साथ फेसबुक, व्हाट्सएप, आदि पर शेयर करके ज्ञानदीप को अपने जैसे और हिंदी पाठकों तक पहुंचने में सहायता कर सकते हैं।

ज्ञानदीप अपने हिंदी पाठकों का विशेष ध्यान रखता है, हम अपने हिंदी पाठकों के लिए उच्च से उच्च श्रेणी का लेख प्रदान करने की कोशिश करते हैं, जो हमारे रिसर्च के अनुसार पूर्ण रूप से तथ्यात्मक एवं सत्य होती है। यदि आपको हमारी लेख ने कुछ भी असत्य लगे, तो आप हमसे संपर्क करके अपनी शिकायत अवश्य दर्ज करें।

यदि आप और भी ऐसे ज्ञानवर्धक लेख पढ़ना चाहते हैं, तो हमारे वेबसाइट ज्ञानदीप को बुकमार्क करना ना भूलें। ‌ जिससे आप हमारी वेबसाइट पर बार-बार आते रहेंगे, और अपनी ज्ञान को बढ़ाते रहेंगे। धन्यवाद! ♥


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां