TRP Full Form In Hindi — TRP क्या होता है?

TV यानी टेलीविजन वर्तमान समय में हर व्यक्ति के घर में होता है, इस बात से तो हर कोई परिचित है, कि यह एक मनोरंजन का जरिया है। पर क्या आपको टीवी पर आने वाले Show, Film आदि के TRP के बारे में आपको ज्ञान हैं, की TRP क्या है? यदि आपको टीआरपी के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो इस लेख में हमने TRP Ka Full Form या TRP Full Form In Hindi और TRP से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां आपके सामने रखने की कोशिश की है। यदि आप TRP बारे में जानकारियां प्राप्त करने में इच्छुक हैं, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्ञानवर्धक साबित होगी, आप इस लेख को अंत तक पढ़ें।

TRP का Full Form क्या होता है?

TRP का Full Form क्या है?

TRP का Full Form “Television Rating Point” और “Target Rating Point” होता है। जहां “Television Rating Point” का हिंदी अर्थ “टेलीविजन रेटिंग प्वाइंंट” और “Target Rating Point” का हिंदी अर्थ “टारगेट रेटिंग प्वाइंट” ही होता है।

Television Rating Point और Target Rating Point दोनों समान ही हैं, इन दोनों Full Form में कोई भी अंतर नहीं है। चलिए अब हम जान लेते हैं, TRP यानी Television Rating Point या Target Rating Point क्या है?

TRP क्या होता है?

TRP यानी Television Rating Point या ‌Target Rating Point एक Metric यानी “मीटर-संबंधी” है, जिसका उपयोग यह पता लगाने के लिए किया जाता है, कि टेलीविजन पर प्रकाशित होने वाली किसी Show, Film, News, आदि को कितने लोगों ने देखा है।

सरल शब्दों में कहें तो TRP यह बताता है कि टेलीविजन पर प्रकाशित होने वाली कोई Show, Film, Serial, News, आदि की लोकप्रियता कितनी अधिक है,‌ यानी उस Particular Show, News, Film, आदि को कितने लोग देखना पसंद कर रहे हैं, या कितने प्रतिशत लोग देख रहे हैं।

TRP कैसे Calculate होता है?

TRP Calculate करने के लिए BARC यानी Broadcast Audience Research Council ने 44,000 से अधिक घरों में “BAR-O-meters” लगाया है, जो यह बताता है कि घर के सदस्य, यानी उस घर में रहने वाले लोग जिसके घर में “BAR-O-meters” लगा हुआ है, वह कौन सी चैनल पर; कौन सा Show (News, Film, आदि) कितनी वक्त तक देखा रहे हैं।‌ 

BAR-O-meters डाटा को‌ प्राप्त करके Monitoring Team यानी (INTAM) Indian Television Audience Measurement को भेजता है, उसके बाद BAR-O-meters‌ से मिली डाटा को (INTAM) Indian Television Audience Measurement अच्छे से Analysis करती है, और फिर इसी डाटा को TRP के रूप में प्रकाशित कर देती है।

TRP को हर हफ्ते ‌BARC के वेबसाइट पर गुरुवार के दिन डाला जाता है, यदि आप पिछले हफ्ते के TRP की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप इसे BARC के वेबसाइट (barcindia.co.in) पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं, और अपने पसंदीदा Show, Serial, News, आदि कि Television Rating Points जान सकते हैं।

आप यह भी जानकारी प्राप्त करने की, 44000 से अधिक घर जहां “BAR-O-meters” लगाए गए हैं, इसकी जानकारी केवल Broadcast Audience Research Council के पास ही होती है, क्योंकि यदि किसी और को यानी किसी टीवी चैनल वालों को इन घरों के बारे में पता चल गया, तो वह उन घरों में जाकर उनसे यह कह सकते हैं, कि आप मेरी चैनल पर आने वाले इस शो को इतनी देर तक देखें, जिसके बदले हम आपको कुछ पैसे देंगे। जो सरासर गैरकानूनी होगा, ऐसा करना एक बड़ा अपराध है। इसलिए Broadcast Audience Research Council इसकी जानकारी सभी से छुपा कर रखती है,‌ ताकि कोई भी टीवी चैनल TRP के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश ना कर सके।

TRP का Value क्या है?

TRP टीवी चैनल और उनके दर्शकों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। TRP से टीवी चैनल यह जान पाते हैं, कि उनका Channel लोगों के बीच कितना लोकप्रिय है, और दर्शक यह जान पाते हैं कि उनका पसंदीदा Television Show (Serial, News, आदि) कितने लोग‌ देखते हैं।

TRP वह कारण है, जिसके वजह से किसी भी चैनल की कमाई होती है। आप अक्सर देखा होगा जब भी आप Television Show (Serial, News, आदि) देखते हैं, तो उनके बीच में आपको विज्ञापन दिखाया जाता है। टीवी चैनल इसी विज्ञापन का पैसा, विज्ञापन दिखाने वाले कंपनियों से लेते हैं। किसी टीवी चैनल का TRP जितना अधिक होता है, उतना ही अधिक वह टीवी चैनल विज्ञापन दिखाने के लिए पैसे लेता है। कहने का अर्थ यह है कि TRP ही किसी टीवी चैनल के कमाई का सबसे बड़ा जरिया होता है, अगर किसी चैनल की TRP बहुत ही कम हो, तो उस चैनल की कमाई भी उतनी ही कम होती है, क्योंकि कम TRP वाले चैनलों को विज्ञापन दिखाने के लिए कंपनियां कम पैसा देती है। अतः TRP का Value यही है

इन्हें भी पढ़ें:

आशा है! आपको ऊपर दी हुई जानकारियां ज्ञानवर्धक लगी होंगी, यदि आपको हमारी यह लेख (TRP का Full Form) या (TRP Full Form In Hindi) अच्छी लगी तो इसे आप अपने मित्रों के साथ फेसबुक, व्हाट्सएप, आदि पर शेयर करके ज्ञानदीप अपने जैसे और हिंदी पाठकों तक पहुंचने में सहायता कर सकते हैं।

ज्ञानदीप अपने पाठकों का विशेष ध्यान रखता है, हम अपने पाठकों के लिए उच्च से उच्च श्रेणी का लेख प्रदान करने की कोशिश करते हैं, जो सरल शब्दों में होती है। इस वेबसाइट पर लिखी हुई लेख हमारे रिसर्च के अनुसार पूर्ण रूप से तथ्यात्मक एवं सत्य होती है। यदि आपको हमारे इस लेख में कुछ भी असत्य लगे तो, आप हमसे संपर्क करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

यदि आप और भी ऐसे ज्ञानवर्धक लेख पढ़ना चाहते हैं, तो हमारे वेबसाइट (ज्ञानदीप) को बुकमार्क करना ना भूलें जिससे आप बार-बार हमारी वेबसाइट पर आते रहेंगे, और अपने ज्ञान को बढ़ाते रहेंगे। धन्यवाद! ♥

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां