PAN Full Form In Hindi - पैन कार्ड क्या है?

PAN या PAN Card भारत के नागरिकों के लिए एक Identify Card की तरह ही है, इस कार्ड को यानी PAN Card को भारत की आयकर विभाग के द्वारा जारी किया जाता है। यदि आप का भी बैंक खाता है, तो आपने बैंक खाता खोल आते समय कामकाज अभी जमा किया होगा। ‌ जी आपको जानकारी नहीं भी है, और आप पैन कार्ड के बारे में जानने के लिए इच्छुक हैं; हम आपको बता दें कि इसलिए इसमें हमने PAN Full Form और PAN से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां आपके साथ साझा करने की कोशिश की है, जो हमारे चर्चे अनुसार पूर्ण रूप से तथ्यात्मक एवं सत्य है, पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इस‌ लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

PAN

PAN Full Form क्या है?

PAN का Full Form “Permanent Account Number” होता है, जिसका हिंदी अर्थ यानी हिंदी Full Form “स्थायी खाता संख्या” है।

PAN Card क्या है?

PAN Card एक अनोखे प्रकार का Identifier यानी पहचान करने वाला दस्तावेज है, जिसे भारत के हर नागरिकों के लिए भारतीय आयकर अधिनियम (1961) के अनुभाग 139A के तहत “भारतीय आयकर विभाग” के CBDT यानी “केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड” की अगुवाई में “आवेदन कर्ताओं को” यानी “जो पैन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन देते हैं” उन्हें जारी किया जाता है।

PAN Card के बारे में।

PAN Card एक Alphanumeric Identifier है, यानी पहचान करने वाला ऐसा दस्तावेज जिस पर अंग्रेजी के अक्षर और गणित की अंको को मिलाकर दस वर्ण लिखे होते हैं, यह केवल भारतीय नागरिक को ही नहीं बल्कि भारतीय नागरिक के अलावा विदेशियों के लिए भी जारी किया जाता है, विदेशी से कहने का अर्थ यह है कि वैसे ही विदेशी जो भारत में निवेश करते हैं; उनके लिए भी पैन कार्ड भारतीय आयकर विभाग जारी करती है।

आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि पैन कार्ड भारतीय नागरिक होने का कोई दस्तावेज नहीं है, इसका अर्थ यह हुआ कि कोई भी विदेशी जिसके पास पैन कार्ड है, वह यह दावा नहीं कर सकता कि वह भारतीय है। पैन कार्ड भारतीय एवं विदेशियों दोनों को ही आयकर रिटर्न भरने के लिए जारी किया जाता है।

PAN Card का उपयोग।

PAN Card के दो मुख्य उपयोग एवं उद्देश्य निम्नलिखित है।

• सभी वित्तीय लेनदेन के लिए एक सार्वजनिक पहचान लाना।

• Tax यानी कर चोरी पर रोक लगाना।

उपर्युक्त दो मुख्य उपयोग एवं उद्देश्यों के अलावा, PAN Card आयकर रिटर्न एवं स्रोत पर कर कटौती को भरने के लिए अनिवार्य है। वर्तमान समय में पैन कार्ड का उपयोग नए बैंक अकाउंट खोलने के लिए, डीमेट अकाउंट खोलने के लिए, नया टेलीफोन कनेक्शन लेने के लिए, विदेशी मुद्रा को खरीदने के लिए, बैंक खाता में ₹50000 से अधिक जमा करने, एवं आदि के लिए किया जाता है।

PAN Card की संरचना।

अब तक तो आप यह जाने चुके होंगे कि PAN Card एक 10 वर्ण का Alphanumeric Identifier है। 

PAN Card के 10 वर्ण ‌मे, पहले 5 वर्ण अंग्रेजी के अक्षर होते हैं; फिर 4 वर्ण गणित के अंक होते हैं; और फिर अंतिम वर्ण यानी 10वा वर्ण एक अंग्रेजी का अक्षर ही होता है।

PAN Card का चौथा एवं पांचवा वर्ण बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि चौथा वर्ण से यह पता लगाया जा सकता है कि PAN Card किसी व्यक्ति, कंपनी, आदि में किसका है।

चौथे स्थान पर होने वाले वर्ण निम्नलिखित हैं।

A - व्यक्तियों का संगठन (AOP)

B - व्यक्तियों का निकाय (BOI)

C - कंपनी (Company)

F - फर्म (Farm)

G - सरकार (Government)

H - हिंदू अविभाजित परिवार (HUF)

L - स्थानीय प्राधिकरण (Local Authority)

J - कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति (AJP)

P - व्यक्ति (Person)

T - ट्रस्ट (AOP)

यदि आप स्वयं के लिए पैन कार्ड बनाएंगे तो, आपके पैन कार्ड का चौथा वर्ण P यानी Person (व्यक्ति) होगा; एवं यदि आप अपनी कंपनी के लिए पैन कार्ड बनाएंगे तो, आपके कंपनी के पैन कार्ड का चौथा वर्ण C यानी Company (कंपनी) होगा।

AD

पांचवें वर्ण से पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति, कंपनी, आदि का उप नाम या अंतिम नाम क्या है।‌ मान लेते हैं, आपका नाम Raja Kumar है, तो आपके पैन कार्ड का पांचवा वर्ण R होगा, अब दूसरी स्थिति में मान लेते हैं कि आपके पास कोई कंपनी है, और उस कंपनी का नाम Gyandeep Enterprises मान लेते हैं, तो आपकी कंपनी के पैन कार्ड का पांचवा वर्ण E हो जाएगा।

इन्हें भी पढ़ें:

आशा है! आपको उपर दी गई जानकारियां ज्ञानवर्धक लगी होंगी, और आपको PAN Full Form एवं PAN Card से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त करने को भी मिली होगी। यदि आपको हमारी यह लेख पसंद आई तो, इसे अपने मित्रों के साथ फेसबुक, व्हाट्सएप, आदी पर शेयर करके ज्ञानदीप को आपके जैसे और अधिक हिंदी पाठकों तक पहुंचने में सहायता करें।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां