NEET क्या है? प्राप्त करें इसकी संपूर्ण जानकारी।

NEET

NEET जिसका पूर्ण रूप National Eligibility cum Entrance Test होता है, जो Basically Undergraduate वालों के लिए होता है।‌ NEET की स्थापना आज से करीब 7 वर्ष पूर्व 2013 में AIPMT यानी All India Pre-Medical Test के रूप में हुई थी। NEET को आमतौर पर लोग NEET UG भी कहते हैं, यदि आप ने हाल ही में अपनी 12वीं की परीक्षा विज्ञान से सफल की है, एवं आप NEET की तैयारी के बारे में सोच रहे हैं, तो सर्वप्रथम आपको यह जानकारी प्राप्त करनी होगी कि NEET क्या होता है? यदि आपकी NEET के बारे में जानने के लिए इच्छुक है, तो यह लेख आपको अत्यंत ज्ञानवर्धक लगेगा; क्योंकि हमने इस लेख को गहन शोध करके लिखा है, ताकि हमारे पाठकों को NEET पूरी जानकारी प्राप्त करने को मिले। अतः आप लेख को अंत तक पढ़ें।

NEET क्या होता है?

NEET भारत के उन छात्रों के लिए एक प्री-मेडिकल प्रवेश परीक्षा है, जो अपने Undergraduate: मेडिकल (MBBS), दंत चिकित्सा/Dental (BDS), एवं Ayurveda, Yoga और Naturopathy, Unani, Siddha और Homoeopathy (BAMS, BUMS, BHMS, आदि) की पढ़ाई करने की इच्छा भारत के सरकारी और निजी संस्थानों, एवं विश्व के विभिन्न संस्थानों से रखते हैं।

NEET की परीक्षा के बारे में।

1. NEET की परीक्षा कलम और कागज आधारित है।

2. NEET की परीक्षा वर्ष में केवल एक बार होती है।

3. NEET की परीक्षा विभिन्न भाषाओं: असामी, बंगाली, अंग्रेज़ी, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, मराठी, उड़िया, तामिल, तेलुगू, एवं उर्दू में लिखी जाती है।

4. NEET की परीक्षा कुल 3 घंटों तक चलती है।

5. NEET की परीक्षा में परीक्षा में उपस्थित होने वालों को -180 से +720 अंक प्राप्त होते हैं।

6. NEET की परीक्षा में उपस्थित होने के लिए विद्यार्थी को जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी का ज्ञान होना अवश्य है, सरल शब्दों में कहें तो विधार्थी को 12वीं परीक्षा विज्ञान से सफल होना आवश्यक है, तभी वह NEET की परीक्षा में बैठ सकते हैं।

NEET परीक्षा कौन आयोजित करता है?

वर्तमान में NEET परीक्षा को आयोजित National Testing Agency (NTA) कराती है, जो भारत में Competitive Exams यानी प्रतियोगी परीक्षा को भी आयोजित करता है। National Testing Agency (NTA) 2019 की परीक्षा आयोजित कर रही है, इससे पहले NEET कि परीक्षा Central Board of Secondary Education करती थी। Central Board of Secondary Education ने 2013 से 2018 तक की है।

जैसा की उपयुक्त जानकारी से आपको इस बात का ज्ञान हो चुका है कि NEET परीक्षा को आयोजित National Testing Agency (NTA) कराती है, पर सबसे रोचक बात तो यह है कि इस परीक्षा के परिणाम को National Testing Agency (NTA) भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले स्वास्थ्य सेवाओं के डायरेक्टर जनरल को, और राज्य सरकारों के राज्य परामर्श प्राधिकरण को सीट बंटवारे के लिए प्रदान करती है।

NEET परीक्षा की पैटर्न और संरचना।

NEET परीक्षा में कुल 180 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिनमें से 45 प्रश्न भौतिकी विज्ञान के, 45 प्रश्न रसायन शास्त्र के, एवं 90 प्रश्न जीव विज्ञान के होते हैं।

NEET परीक्षा मैं एक प्रश्न सही होने पर विद्यार्थियों को 4 अंक प्राप्त होते हैं, और एक प्रश्न के गलत होने पर आपके प्राप्त अंत में से एक नंबर काट लिया जाता है। NEET परीक्षा कुल 3 घंटे यानी 180 मिनट तक चलती है, परीक्षा का अधिकांश प्राप्त अंक 720 है; जिसका अर्थ यह हुआ कि यदि NEET परीक्षा किसी विद्यार्थी के 720 अंक आते हैं, तो वह इस परीक्षा का सर्वोत्तम (Topper) छात्र हैं।

NEET का Syllabus क्या है?

NEET का Syllabus एनसीईआरटी द्वारा 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ाई जाने वाले विषय: भौतिकी, रसायन, और जीव विज्ञान के मुख्य अवधारणाएँ होते हैं।

NEET का इतिहास।

NEET की स्थापना के लिए 2012 में प्रस्तावना रखी गई थी, लेकिन किन्ही कारणों की वजह से Central Board of Secondary Education एवं Medical Council of India ने NEET को 1 साल के लिए टाल दिया था।

भारत में पहली बार NEET की परीक्षा 5 मई 2013 को भारत सरकार के द्वारा Undergraduate एवं Postgraduate मेडिकल छात्रों के एडमिशन के मांग को पूरा करने लिए आयोजित किया था।

लेकिन 18 जुलाई 2013 को भारत के उच्च न्यायालय यानी सुप्रीम कोर्ट ने 115 याचिकाओं के पक्ष में फैसला लेकर NEET की इस परीक्षा को रद्द करके यह घोषणा की थी के Medical Council of India कॉलेजों द्वारा की गई प्रवेश‌ (Admission) प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं कर सकता है।

जब 2012 में Medical Council of India ने NEET-UG की स्थापना की घोषणा की थी, तब कुछ राज्यों: आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु ने यह कहकर पुरजोर विरोध किया था कि Medical Council of India के Syllabus और उनके Syllabus में काफी अंतर है।

सुप्रीम कोर्ट के 2013 में रोक लगाने के बाद 2014 तथा 2015 में कोई भी NEET की परीक्षा आयोजित नहीं की गई, 2016 में NEET की परीक्षा आयोजित हुई तब इसे अंग्रेजी तथा हिंदी में ही दिया गया था, इसके बाद 2017 में NEET की परीक्षा अंग्रेजी तथा हिंदी के अलावा Tamil, Telugu, Marathi, Bengali, Assamese and Gujarati में ली गई, और इसके बाद और भी भाषाएं:‌‌ कन्नड़, उड़िया, तथा उर्दू जुड़ी ताकि छात्र अपनी क्षेत्रीय भाषा में भी परीक्षा लिख सकें।

जैसा कि 2013 में सुप्रीम कोर्ट में NEET को खारिज करके रोक लगा दी थी कि Medical Council of India कोई भी एकीकृत परीक्षा आयोजित नहीं कर सकता है। 2013 के इस फैसले के बाद CBSE ने 4 मई 2014 को यह मन बनाया की वह AIPMT यानी All India Pre-Medical Test परीक्षा आयोजित कराएंगे, लेकिन इस योजना को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अमल में की घोषणा की गई।

सीबीएसई ने NEET-UG के परीक्षा के परिणाम एवं पूरे भारत की मेरिट लिस्ट को 5 जून 2013 को घोषित किया, यह मेरीट लिस्ट एवं वेटिंग मेरिट लिस्ट की घोषणा सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश पर किया गया था।

2013 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा NEET को गैरकानूनी तथा अवैध घोषित होने के 3 वर्ष बाद यानी 11 अप्रैल 2016 को सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों वाली बेंच ने जब पुराने फैसले को वापस लिया और भारत सरकार एवं Medical Council of India आम प्रवेश परीक्षा को लागू करने का आदेश दिया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश मिलने के बाद ही 1 मई 2016 को All India Pre Medical Test ने NEET के पहला चरण की परीक्षा ली, 2016 के NEET के पहला चरण की परीक्षा में जिन छात्रों में भी हिस्सा लिया गया था उन्हें NEET के दूसरे चरण की परीक्षा देने का भी मौका मिला था। ‌NEET के दूसरे चरण की परीक्षा 24 जुलाई 2016 को ही आयोजित हुई थी, जिन छात्रों ने भी दूसरे चरण की परीक्षा दी थी, उन्हें अपने पहले चरण की परीक्षा के प्राप्त अंक को त्याग करना था। 2016 में NEET की परीक्षाओं को कराने की तिथि सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई थी।

FAQs

NEET की स्थापना कब हुई है?

NEET स्थापना 2013 में AIPMT यानी All India Pre-Medical Test के रूप में हुई है।

NEET की परीक्षा कौन विधार्थी दे सकता है?

NEET की परीक्षा वह विधार्थी दे सकते हैं, जिन्होंने अपनी 12वीं की परीक्षा विज्ञान: भौतिकी, रसायन, शास्त्र जीव विज्ञान से सफल की है।

NEET एक वर्ष में कितनी बार परीक्षा लेता है?

NEET एक वर्ष में केवल एक बार की परीक्षा लेता है।

निष्कर्ष।

जानकारियों को पढ़कर आपको अब तक इस बात का तो ज्ञान हो गया होगा कि NEET क्या होता है। यदि यह ले यह आपके लिए किसी भी रुप से ज्ञानवर्धक या लाभदायक प्रतीत हुआ तो इस लेख को आप अपने मित्रों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें, जो छात्र NEET की तैयारी करना चाहते हैं, उन्हें NEET की संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जाए।


Post a Comment

0 Comments