विशेषण हिंदी व्याकरण का एक महत्वपूर्ण अध्याय है, विशेषण के विषय में संपूर्ण जानकारियां जैसे — विशेषण किसे कहते हैं? और विशेषण के कितने प्रकार होते हैं? प्राप्त करने के लिए संपूर्ण लेख अवश्य पढ़ें।

विशेषण किसे कहते हैं?

विशेषण की परिभाषा: वह शब्द जो किसी संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता यानी गुण, धर्म, खासियत, आदि बताने का कार्य करता है, उसे विशेषण कहते हैं।

विशेषण के उदाहरण:

राम के पास एक लाल कलम है।
हमारी गाय का रंग सफेद है।
राम घरेलू कामकाज करता है।
यह एक गुलाबी फूल है।
वे लोग बहुत दयालु हैं।
शहर में रहने वाले लोग धनी हैं।
इस प्रश्न का उत्तर गलत है।

उपर्युक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — लाल, सफेद, गुलाबी, घरेलू दयालु, धनी एवं गलत विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि उपर्युक्त शब्द वाक्य में उपस्थित संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताने का कार्य कर रहे हैं।

आप यदि उदाहरण के पहले वाक्य “राम के पास एक लाल कलम है।” को देखें तो इसमें “लाल” शब्द विशेषण हैं, और यह “कलम” जो एक संज्ञा है, उसकी विशेषता बता रहा है।

विशेषण के कितने भेद होते हैं?

हिंदी व्याकरण के अनुसार विशेषण के केवल चार भेद होते हैं, जो निम्नलिखित हैं।

गुणवाचक विशेषण
परिमाणवाचक विशेषण
संख्यावाचक विशेषण
सर्वनामिक विशेषण

गुणवाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे विशेषण जो संज्ञा के गुण, दसा, रंग, स्वभाव, इत्यादि का बोध करने का कार्य करते हैं; उन्हें गुणवाचक विशेषण कहते हैं।

गुणवाचक विशेषण के उदाहरण:

• वह लड़की बहुत ही सुंदर है।

• मेरी कलम लाल है।

• भिकारी 2 दिनों से भूखा है।

• यह पहाड़ ऊंचा है।

• यह कुर्सी टूटी है।

• इस गांव के लोग गवार हैं।

• भारत के सैनिक ताकतवर हैं।

• यह फल जहरीला है।

• वह राम का चचेरा भाई है।

उपर्युक्त वाक्य में प्रयुक्त होने वाले शब्द — सुंदर, लाल, भूखा, ऊंचा, टूटी, गवार, ताकतवर, जहरीला एवं चचेरा गुणवाचक विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि उपर्युक्त शब्द संज्ञा के गुण, दशा, रंग, स्वभाव, इत्यादि का बोध कर रहे हैं।

आप यदि गुणवाचक विशेषण के पहले उदाहरण “वह लड़की बहुत ही सुंदर है।” को देखेंगे तो आपको प्राप्त होगा कि विशेषण “सुंदर” लड़की की विशेषता या गुण बताने का कार्य कर रहा है।

परिमाणवाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे विशेषण जिससे किसी वस्तु (संज्ञा) को नापने या तैलने का बोध होता है, उन्हें परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण:

• इस घड़े में थोड़ा पानी है।

• बोरे में कुछ अनाज बचा हुआ है।

• इस डब्बे में आधा किलो चीनी है।

• यह कपड़ा 25 मीटर चौड़ा है।

• यह सारा सोना मेरा है।

उपर्युक्त वाक्य में प्रयुक्त होने वाले शब्द — थोड़ा, कुछ, आधा किलो, 25 मीटर एवं सारा परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण है; क्योंकि उपर्युक्त विशेषण वस्तु को मापने या तौलने का बोध कर रहे हैं।

आप यदि परिमाणवाचक विशेषण की प्रथम उदाहरण “इस घड़े में थोड़ा पानी है।” को देखेंगे तो आप को इस वाक्य में प्रयुक्त विशेषण “थोड़ा” पानी (वस्तु) की मात्रा बताने का कार्य कर रहा है, और जाहिर सी बात है कि हम पानी को केवल माप या तौल सकते है; गिनती नहीं कर सकते हैं।

परिमाणवाचक विशेषण के कितने भेद होते हैं?

परिमाणवाचक विशेषण के मुख्यत: दो भेद होते हैं, जो निम्नलिखित हैं।

• निश्चित परिमाणवाचक विशेषण

• अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण

निश्चित परिमाणवाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे परिमाणवाचक विशेषण जो किसी वस्तु के निश्चित मात्रा को ‌मापने या तौलने का बोध करते हैं, उन्हें निश्चित परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

निश्चित परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण:

• डब्बे में 20 लीटर पानी है।

• पैकेट में 5 किलो आटा है।

• कपड़ा 7 मीटर लंबा है।

• चावल का वजन 10 कुंटल है।

उपयुक्त वाक्यों में प्रयुक्त होने वाले शब्द — 20 लीटर, 5 किलो, ‌7 मीटर एवं 10 कुंटल निश्चित परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि यह वस्तु के निश्चित मात्रा को‌ मापने या तौलने का बोध कर रहे हैैं।

अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे परिमाणवाचक विशेषण जो किसी वस्तु के अनिश्चित मात्रा को ‌मापने या तौलने का बोध करते हैं, उन्हें अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण:

• गमले में थोड़ा पानी है।

• डब्बे में कुछ आटा बचा हुआ है।

• हमारे घर में अधिक चीनी नहीं बचा है।

• आपके पास चावलों का ढेर है।

उपर्युक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — थोड़ा, कुछ, अधिक एवं ढेर अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि यह वस्तु के अनिश्चित मात्रा को‌ मापने या तौलने का बोध कर रहे हैैं।

संख्यावाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे विशेषण जो संज्ञा या सर्वनाम के संख्या को बोध करने का कार्य करते हैं, उन्हें संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण:

• कक्षा में आठ लड़के बैठे हैं।

• अस्तबल में पांच घोड़े बंधे हुए हैं।

कुछ लड़कियां बगीचे में टहल रही है।

• मेरे पास कई टोपिया हैं।

• हमारे पास बहुत अंडे हैं।

उपर्युक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — आठ, पांच, कुछ, कई एवं बहुत ‌संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण हैं, क्योंकि उपर्युक्त शब्द संज्ञा या सर्वनाम की संख्या का बोध कर रहे हैं।

आप यदि संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण “कक्षा में आठ लड़के बैठे हैं।” को देखेंगे तो आपको इस वाक्य में या साफ-साफ दिखेगा की “आठ” शब्द “लड़के” जो वाक्य में संज्ञा है उसको बोध कर रहे हैं।

संख्यावाचक विशेषण कितने प्रकार के होते हैं?

संख्यावाचक विशेषण मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं, जो निम्नलिखित है।

• निश्चित संख्यावाचक विशेषण

• अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण

निश्चित संख्यावाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे संख्यावाचक विशेषण जो किसी संज्ञा या सर्वनाम के निश्चित संख्या को बोध करने का कार्य करता है, उन्हें निश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

निश्चित संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण:

• इस कक्षा में कुल तीन छात्र और छात्राएं हैं।

• भारत का प्रत्येक नागरिक देश भक्त है।

• जेरूसलम विश्व का पहला शहर है।

• उसके पास दो जोड़े चप्पल हैं।

• अतिका के पास एक दर्जन कपड़े हैं।

उपर्युक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — तीन, प्रत्येक, पहला‌, दो जोड़े एवं ‌एक दर्जन निश्चित संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि उपर्युक्त संख्यावाचक विशेषण संज्ञा या सर्वनाम के निश्चित संख्या का बोध कर रहे हैं।

अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे संख्यावाचक विशेषण जो किसी संज्ञा या सर्वनाम के अनिश्चित संख्या को बोध करने का कार्य करता है, उन्हें अनिश्चयत संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण:

• मैदान में कुछ लड़के क्रिकेट खेल रहे हैं।

• राम कई दिनों से घर नहीं लौटा है।

• हम लोगों के पास बहुत किताबें हैं।

• हमारे पास काफी सिक्के नहीं है।

उपयुक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — कुछ, कई, बहुत, एवं काफी अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण हैं; क्योंकि उपर्युक्त शब्द संज्ञा या सर्वनाम के अनिश्चित संख्या को बोध कर रहे हैं।

नोट (क):‌ यदि कुछ, कई, बहुत, जैसे शब्द किसी गणनीय संज्ञा का बोध करते हैं; तो इस स्थिति में इन्हें संख्यावाचक विशेषण कहा जाता है।

उदाहरण: हमारे पास कुछ कलम है।

उपर्युक्त वाक्य में प्रयोग होने वाला शब्द “कुछ” संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण हैं, क्योंकि यह गणनीय संज्ञा जो वाक्य में “कलम” है, उसका बोध कर रहा है।

नोट (ख): यदि कुछ, कई, बहुत, जैसे शब्द किसी अगणनीय संज्ञा का बोध करते हैं; तो इस स्थिति में इन्हें परिमाणवाचक विशेषण कहा जाता है।

उदाहरण: घड़े में थोड़ा पानी है।

प्रयुक्त वाक्य में प्रयोग होने वाला “थोड़ा” परिमाणवाचक विशेषण का उदाहरण है, क्योंकि यह अगणनीय संज्ञा जो वाक्य में “पानी” है, उसका बोध कर रहा है।

सर्वनामिक विशेषण किसे कहते हैं?

वैसे सर्वनाम जो ठीक संज्ञा के पहले प्रयुक्त होते हैं, उन्हें सर्वनामिक विशेषण कहते हैं।

सर्वनामिक विशेषण के उदाहरण:

वह लड़की बाजार गई है।

कौन लड़का मुझे आवाज दे रहा है।

कोई व्यक्ति आपसे मिलने आया है।

यह खिलाड़ी हमारी टीम का नहीं है।

उपर्युक्त वाक्यों में प्रयोग होने वाले शब्द — वह, कौन, कोई एवं यह सर्वनामिक विशेषण के उदाहरण हैं, क्योंकि यह वैसे सर्वनाम है जो संज्ञा के पहले प्रयुक्त हुए हैं।

निष्कर्ष।

आशा है! उपयुक्त जानकारियां — विशेषण किसे कहते हैं? एवं ‌विशेषण के कितने प्रकार होते हैं? आपके लिए ज्ञानवर्धक प्रतीत हुई हो, यदि उपर्युक्त जानकारियां पढ़ने के बाद विशेषण के संबंध में आपके कोई प्रश्न हैं; तो उसे आप कमेंट करके अवश्य पूछें।

विशेषण किसे कहते हैं?