CBI Full Form In Hindi | CBI क्या है?

CBI भारत की एक मुख्य Investigating यानी जांच पड़ताल करने वाली एजेंसी है, जो भारत के Ministry of Personnel, Public Grievances and Pensions‌ यानी कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आती है। मित्रों यदि आप सीबीआई के बारे में जानकारी प्राप्त करने के थोड़े भी इच्छुक होंगे, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्ञानवर्धक साबित होने वाली है। क्योंकि इस लेख में हमने CBI का Full Form और CBI से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां आपके सामने प्रकाशित करने की कोशिश की है, जो हमारे रिसर्च के अनुसार पूर्ण रूप से तथ्यात्मक एवं सत्य है। आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें, और CBI के बारे में अपने मूल विचारों को नीचे Comment Box में लिख कर जरूर बताएं।

CBI Full Form In Hindi

CBI का Full Form “Central Bureau of Investigation” होता है, जिसका हिंदी अर्थ या हिंदी Full Form “केंद्रीय जांच ब्यूरो” है।

CBI क्या है?

CBI यानी Central Bureau of Investigation भारत की सबसे बड़ी एवं मुख्य जांच एजेंसी है, जिसका गठन 1942 में “Special Police Establishment” यानी “‌विशेष पुलिस प्रतिष्ठान” के रूप में किया गया था।

CBI का कार्य क्या है?

जब सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो की गठन 1942 में की गई थी तब इनके दो मुख्य कार्य थे, जिसमें से पहला कार्य “घूसखोरी की जांच करना” और दूसरा कार्य “सरकारी भ्रष्टाचार का पता लगाना”‌ था।

CBI को 1965 में कुछ और कार्य सौंपी गई, जो वर्तमान में भी सीबीआई उन कार्यों को पूरा कर रही है। सीबीआई को ‌जो 1965 में जो और अधिक कार्य मिले थे, उनमें से कुछ मुख्य कार्य को हमने नीचे लिखा है, आप उसे पूरा जरूर पढ़ें।

१. भारत सरकार द्वारा लागू केंद्रीय कानूनों के उल्लंघन की जाँच करना।

२. बहु राज्य संगठित अपराध का पता लगाना।

३. बहु-एजेंसी या अंतर्राष्ट्रीय अपराध या मामले की जांच करना और उसकी तह तक जाना।

वर्तमान में सीबीआई के पास ऊपर लिखे गए कार्यों के अलावा और भी कार्य हैं। जैसे: आर्थिक अपराधों का जांच करना, विशेष अपराध यानी वैसे अपराध जो बड़े अपराधी हो उसकी जांच करना, एवं भ्रष्टाचार और आदि जैसे अपराधों की जांच पड़ताल करना।

CBI के बारे में।

CBI भारत की एक ऐसी जांच एजेंसी है, जिसे Right to Information Act के प्रावधान से छूट प्राप्त है।

Right to Information Act वह Act है, जिसमें भारत का कोई नागरिक केंद्र सरकार या राज्य सरकार के किसी भी सरकारी विभाग से कोई भी सूचना प्राप्त करने का निवेदन कर सकता है, जिसका जवाब सरकारी विभाग को 30 दिन के भीतर देना होता है। यदि ‘सूचना’ पूछने वाले व्यक्ति, के जीवन से ‌जुड़ी हो; तो इस परिस्थिति में सरकारी विभाग को 48 घंटे के भीतर ही उस व्यक्ति को सूचना का उत्तर देना होता है।

यानी इसका अर्थ यह हुआ कि भारत का कोई भी नागरिक सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो से कोई भी जानकारी मांग करने का अनुरोध नहीं कर सकता है।

CBI का मुख्यालय कहां है?

CBI का मुख्यालय भारत के राजधानी दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के निकट CGO Complex में स्थित है। 

CBI का Director कौन है?

वर्तमान में CBI का Director “Rishi Kumar Shukla” है,‌ जो कि एक आईपीएस ऑफिसर है। Rishi Kumar Shukla‌, IPS की उम्र 60 वर्ष है, इनका जन्म 23 अगस्त 1960 को Gwalior, Madhya Pradesh, India हुआ है। यह 1 July 2016 से लेकर 1 February 2019 तक मध्य प्रदेश पुलिस के डायरेक्टर जनरल भी रहे हैं।

Rishi Kumar Shukla 2 फरवरी 2019 को केवल 2 वर्षों के कार्यकाल के लिए सीबीआई के डायरेक्टर बने हैं। यानी इसका अर्थ यह हुआ कि ठीक 2 वर्ष बाद यानी 2 फरवरी 2021 को इनका कार्यकाल पूरा हो जाएगा, और फिर नए डायरेक्टर चुने जाएंगे।

CBI यानी Central Bureau of Investigation के पहले डायरेक्टर जनरल Dharamnath Prasad Kohli थे, जिन्होंने 1 अप्रैल 1963 से 31 मई 1968 तक सीबीआई के पहले डायरेक्टर के रूप में कार्य किया।

CBI का Motto(s) क्या है?

CBI का Motto(s) Industry यानी उद्योग, Impartiality‌ यानी निष्पक्षता, एवं Integrity यानी अखंडता है। CBI इन्हीं 3 Motto(s) के साथ अपने कार्य को पूर्ण रूप से पूरा करती है।

CBI में कितनी Employees है?

1 मार्च 2017 के रिपोर्ट के अनुसार सीबीआई में 5685 लोग कार्य कर रहे हैं। सीबीआई में कुल Employees की संख्या 7274 है, पर इनमें 1589 यानी (21.84%) Employees का स्थान खाली है।

CBI का इतिहास।

CBI का गठन भारत की आजादी से पहले 1942 में SPE यानी Special Police Establishment के रूप में किया गया था। उस समय Special Police Establishment का मुख्यालय लाहौर में था, जो कि वर्तमान में पाकिस्तान की एक शहर है। उस समय Special Police Establishment के अधीक्षक Qurban Ali Khan थे, जिन्हें भारत के बंटवारे के समय पाकिस्तान के लिए यानी पाकिस्तान के नागरिक के रूप में चुना गया था।

1946 में यानी भारत की आजादी से 1 वर्ष पूर्व Sahib Karam Chand Jain, युद्ध विभाग का पहला कानूनी सलाहकार थे। उन्होंने ही Special Police Establishment को Delhi Special Police Establishment का नाम दिया।

फिर भारत के आजादी के 16 वर्ष बाद यानी 1 अप्रैल 1963 को Delhi Special Police Establishment को गृह मंत्रालय के द्वारा एक नाम दिया गया जो कि CBI यानी Central Bureau of Investigation है।

सीबीआई

ऊपर दी गई जानकारियां पढ़ने के बाद अब तक आपको सीबीआई के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी, यदि इस लेख को पढ़ने के बाद आपके पास सीबीआई से संबंधी कोई प्रश्न हो तो आप नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे, हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ