Current Account और Saving Account में क्या अंतर है?

वर्तमान में भारत या विश्व के ज्यादातर व्यक्ति के पास एक Bank Account होता ही है, चाहे वह Current Account या Saving Account हो। आमतौर पर लोग अपने कमाए हुए पैसे को‌ अपने बैंक अकाउंट में रखते हैं, पर कितनी बार जब वह अपनी उन्हीं पैसे को निकालने के लिए एटीएम में जाते हैं, तो उन्हें अपने पैसे को निकालने वक्त दो ऑप्शन दिखता है, जिसमें एक Current Account और दूसरा Saving Account होता है। तब ज्यादातर लोग किस बात से कंफ्यूज हो जाते हैं कि आखिर इन दोनों बैंक खातों में अंतर क्या है? यदि आप भी इन दोनों बैंक खातों के अंतर के बारे में नहीं जानते हैं, तो हम आपको बता दें कि इस लेख में हमने Current Account और Saving Account में अंतर और इन दोनों खातों से जुड़ी संपूर्ण महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा करने की कोशिश की है, जो हमारे रिसर्च के अनुसार पूर्ण रूप से तथ्यात्मक एवं सत्य हैं। ‌यदि आप इन दोनों बैंक खातों के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस लेख को आप अंत तक अवश्य पढ़ें।

Current Account और Saving Account में क्या अंतर है?

यदि हम बात करेंगे Current Account और Saving Account के बीच के अंतर की‌‌ तो इन दोनों बैंक खातों के अंतर के बारे में जानने के लिए सबसे पहले आपको इन दोनों के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करनी पड़ेगी तभी आप यह समझ पाएंगे कि Current Account और Saving Account में अंतर क्या है।

चलिए पहले हम जान लेते हैं कि Current Account और Saving Account क्या है?

Current Account क्या है? (What is Current Account in Hindi)

Current Account का हिंदी अर्थ चालू खाता होता है, और यह एक प्रकार का जमा खाता है। Current Account को अकेले या मिलजुल कर भी चलाया जा सकता है,‌ “मिलजुल” से कहने का अर्थ यह है कि इस बैंक खाते को एक व्यक्ति भी मेंटेन कर सकता है, या फिर एक से ज्यादा व्यक्ति भी इस खाते को मेंटेन कर सकता है।

Current Account मूल रूप से उन लोगों का खुलता है, जो बड़े बड़े व्यवसायी या उद्योगपति होते हैं, आप तो एक बात से परिचित होंगे ही कि बड़े-बड़े उद्योगपति को बड़े-बड़े अमाउंट का ट्रांजैक्शन करना होता होता है, और यह बड़े-बड़े ट्रांजैक्शन एक सेविंग अकाउंट से करना संभव नहीं है, इसलिए इन लोगों के लिए करंट अकाउंट खुलता है।

Saving Account क्या है? (What is Saving Account in Hindi)

Saving Account का हिंदी अर्थ बचत खाता होता है, और यहां भी एक जमा खाता है। Saving Account को अकेले या मिलजुल कर भी चलाया जा सकता है, इस जमा खाते को कोई भी आम व्यक्ति खुलवा सकता है,‌ और अपनी कमाई हुई रकम इस खाते में जमा कर करके रख सकता है।

Current Account And Saving Account Difference In Hindi

Current Account में Saving Account निम्नलिखित अंतर है, आप दिए गए पूर्ण अंतर को सावधानीपूर्वक पढ़ें और इसे समझे।

• Current Account में आपके जमा राशि का कोई भी इंटरेस्ट (ब्याज) नहीं मिलता है, ‌जबकि Saving Account में आपके जमा राशि का आपको 4% से लेकर 7% तक का सालाना इंटरेस्ट (ब्याज) मिलता है।

• Current Account में आपके जमा राशि कौन निकालने पर कोई लिमिट नहीं होती है, आप जितना भी चाहे उतना पैसा एक बार में निकाल सकते हैं और जमा कर सकते हैं; जबकि Saving Account में आपको एक निश्चित राशि निकलने का सीमा तय होता है, यदि आप उस निश्चित सीमा से ऊपर की राशि अपने खाते से निकालना चाहते हैं, तो नहीं निकाल सकते हैं। लेकिन Saving Account मैं राशि जमा करने पर कोई सीमा नहीं होती है आप जितनी चाहे उतनी राशि अपने Saving Account में जमा करा सकते हैं।

• Current Account व्यापारियों, उद्योगपतियों, शादी के लिए एक बेहतर विकल्प है, क्योंकि उन्हें एक लगातार एवं बड़े-बड़े ट्रैंजेक्शन करने होते हैं; जबकि Saving Account उनके लिए बेहतर विकल्प है, जो एक वेतनभोगी कर्मचारी हो, या उनकी आय मासिक हो।

• Current Account को मेंटेन करने के लिए आपके खाते में न्यूनतम राशि काफी अधिक होती है, क्या राशि 10,000 से लेकर 20000 तक हो सकती है; जबकि Saving Account को मेंटेन करने के लिए आपके खाते में न्यूनतम राशि काफी कम होती है, इस खाते को मेंटेन करने के लिए आपके खाते में न्यूनतम 1000 या ₹2000 होने चाहिए। एवं कुछ सेविंग खाते ऐसे भी होती हैं,‌ जो जीरो बैलेंस वाला खाता होता है,‌ और आपको इस हाथी को मेंटेन करने के लिए कोई निश्चित राशि रखने की आवश्यकता नहीं होती है।

Current Account और Saving Account में क्या अंतर है?

आशा है! आपके ऊपर दी हुई जानकारियां ज्ञानवर्धक प्रतीत हुई होंगी, और आपको Current Account और Saving Account में अंतर और यह दोनों खाता क्या है, इसकी जानकारी प्राप्त करने को मिली होगी। यदि आपको हमारी यह लेख पसंद आई, तो इसे अपने मित्रों के साथ फेसबुक, व्हाट्सएप, आदि पर शेयर करके ज्ञानदीप को अपने जैसे और हिंदी पाठकों तक पहुंचने में सहायता करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ